मेरे स्नेही जन

Wednesday, August 14, 2013

हिन्दुस्तान हमारा है


उठो देश के वीर जवानों

माँ ने हमें पुकारा है

दुश्मन ने सीमा पर

 फिर हमको ललकारा है



इस मिट्टी के कण-कण में

बहता खून हमारा है

दूर हटो तुम दूर हटो

 हिन्दुस्तान हमारा है


कायर नहीं हम

अमन शान्ति के रखवाले 

मन के सीधे सच्चे


पर हैं हिम्मत वाले



माँ की रक्षा के खातिर

सीने में गोली खाएंगे

मर जाएंगे मिट जाएंगे

वीर सपूत कह लाएंगे


नन्हें फूल चमन के


ये बगिया सबसे न्यारी है


धरती माँ तू हमको


जान से भी प्यारी है



उठो देश के वीर जवानों


माँ ने हमें पुकारा है

*******

महेश्वरी कनेरी 

11 comments:

  1. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई
    हिन्दुस्तान हमारा है
    बिल्कुल सच
    सादर

    ReplyDelete
  2. स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

    सादर

    ReplyDelete
  3. सुंदर और ओजस्वी कविता, स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ.

    रामराम.

    ReplyDelete
  4. सुंदर कविता ..... जय हिन्द

    ReplyDelete
  5. सुंदर कविता .. स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  6. स्‍वतंत्रता दि‍वस की शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  7. राष्ट्रभक्ति से ओत-प्रोत बहुत ही सुन्दर बाल रचना
    सादर!

    ReplyDelete
  8. सुंदर कविता .....भारत माँ को नमन

    ReplyDelete
  9. बहुत प्रभावी प्रस्तुति...जय हिन्द!

    ReplyDelete
  10. bhaktimay ..bhawmay aur prerak prastuti ....

    ReplyDelete
  11. सभी पाठकों को हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल परिवार की ओर से हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ…
    --
    सादर...!
    ललित चाहार

    क्या बतलाऊँ अपना परिचय ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः004

    थोडी सी सावधानी रखे और हैकिंग से बचे

    ReplyDelete